English
उत्‍तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड

उत्तर प्रदेश सरकार

गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला

खादी एवं ग्रामोद्योगी उत्पादों में विविधिकरण करने के लिये उनकी गुणवत्ता मानक के अनुरूप उत्पादों का स्टैर्ण्डराइजेशन (गुणवत्ता परीक्षण) उनमे वैल्यू एडिशन/ पैकेजिंग में सुधार एवं नवीनतम तकनीक का समावेश तथा अन्य प्रकार के वर्तमान युग के अनुरूप विभिन्न आवश्यक गुणवत्ता से सम्बन्धित नियम/कानून की जानकारी उद्यमियों को देने के लिये यह योजना प्रस्तावित की गयी है ताकि आज के भू-मण्डलीयकरण के युग में बाजार प्रतिस्पर्धा में खादी ग्रामोद्योगी उत्पाद अपना उपयुक्त स्थान बना सके/ जिससे ग्रामीण उद्यमियों को अपने उत्पादित सामग्रियों का उचित मूल्य मिल सके। गुणवत्ता नियंत्रण के कार्य के लिये बोर्ड मे दो प्रयोगशाला गुणवत्ता नियत्रण प्रयोगशाला खजनी गोरखपुर एवं डालीगंज लखनऊ मे स्थिपित है जिसके द्वारा उत्पाद विकास मानकीकरण एवं गुणवत्ता सुनिश्चित करने का कार्य किया जा रहा है।

गुणवत्ता के महत्व को समझे बिना यह कार्य किया जाना सम्भव नही है । बोर्ड द्वारा अशिक्षित से उच्च शिक्षित लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करके ग्रामोद्योग की स्थापना करवाई जाती है । अधिकांश ग्रामीण उद्यमियों का शैक्षिक स्तर ऐसा नही होता है कि वह अपने उत्पादों की गुणवत्ता स्वंय सुनिश्चित करने में सक्षम हो सके । इसलिए इनको टेक्नालोजी सपोर्ट प्रदान करना आवश्यक है यह समस्त जानकारी निम्न कार्यक्रमो के द्वारा दी जाती है।

1. मानकीकरण/ गुणवत्ता नियंत्रण परीक्षण

गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला लखनऊ मे सैम्पुल टेस्टिंग हेतु प्रयोगशाला स्थापित है जिनमे खादय पदार्थो जैसे जैम/जेली/ अचारमुरब्बा/शहद/ मशाला/तेल/इत्यादि का परीक्षण फूड सेटी एक्ट के अनुसार किया जाता है। तथा डिटर्जेन्ट पाउडर व विम पाउडर बनाने की ट्रेनिंग शुल्क कार्यालय मे जमा करके प्राप्त की जाती है।

2. उत्पाद विकास प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण कार्यशाला

ग्रामोद्योगी इकाइयों को तकनीकी परामर्श एवं नयी तकनीक की जानकारी देने के लिये कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। जिसमे केन्द्रीय संस्थानो/ राज्य संस्थानो के विशेषज्ञो आमंत्रित किया जाता है। इस कार्यशाला मे प्रतिभागियों का चयन दैनिक समाचार मे प्रकाशित कराकर विज्ञापन के माघ्यम से किया जाता है

3. पॉच दिवसीय गुणवत्ता नियत्रंण में टेक्निकल ट्रेनिंग

गुणवत्ता नियंत्रण टेक्निकल ट्रेनिंग का आयोजन प्रयोगशाला लखनऊ द्वारा अपने कार्यालय परिसर मे स्थापित लेक्चर हाल मे आयोजित किया जाता है जिनको निम्न बिन्दुओं पर जानकारी उपलब्ध करायी जाती है।

  1. गुणवत्ता के मानक क्या है ।
  2. गुणवत्ता से सम्बन्धित विभिन्न नियम कानून जैसे फुड सेटी एक्ट की जानकारी/एगमार्क एवं आई0एस0ओ0 प्रमाण पत्र कैसे प्राप्त करें ।
  3. नियमानुसार उत्पादों की लेवलिंग पैकेजिंग कैसे करें ।
  4. विभिन्न उत्पादों का गुणवत्ता परीक्षण का कियात्मक प्रशिक्षण ।
  5. विभिन्न उत्पादों गुणवत्तापूर्वक उत्पादन प्रक्रिया का प्रदर्शन एवं उत्पाद विविधीकरण ।
    व्यवस्थानुसार लाभार्थी का चयन जिला ग्रामोद्योग अधिकारी द्वारा किया जाता है जिसमे वे प्रतिभागा होते है जो उद्योग लगा चुके होते है अथवा उद्योग लगाने की प्रक्रिया मे होते है।

4. उत्पाद विकास मानकीकरण जागरूकता शिविर

गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगषाला द्वारा जागरुकता शिविर जनपद /ब्लाक/ग्राम स्तर पर आयोजित किया जाते है। जिसके द्वारा प्रत्येक शिविर मे 50 प्रतिभागियों को ग्रामोद्योगी उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु निम्नलिखित बिन्दुओं पर जानकारी उपलब्ध करायी जाती है।

  1. सफल ग्रामोद्योग की स्थापना के गुणवत्ता महत्व।
  2. गुणवत्ता मानक क्या है ।
  3. गुणवत्ता से सम्बन्धित विभिन्न नियम कानून जैसे फूड सेटी एक्ट की जानकारी/ एगमार्क एवं आई0एस0ओ0 प्रमाण पत्र कैसे करें।
  4. नियमानुसार उत्पादों की लेवलिंग पैकेजिंग कैसे करें ।
  5. कार्यशाला/ फैक्टी स्तर पर उत्पादों की गुणवत्ता कैसे सुनिशिचत करें।
  6. परीक्षण की क्रियात्मक प्रदर्शन।
  7. बोर्ड की विभिन्न वित्तपोषित योजनाओं की जानकारी।
  8. किसी एक प्रोडक्ट के गुणवत्तापूर्वक उत्पादन प्रक्रिया का प्रदर्शन(स्पाट टेस्टिंग)।